अंतरराष्ट्रीय नर्स दिवस विशेष (international nurses day special)

सदा बचाती हैं रोगी को दुख, दर्दों बीमारी से, भेदभाव को नहीं करें वह नर रोगी और नारी से। देख बुलंदी को नर्सों की बीमारी डर जाती है फ्लोरेंस की वह पावन बेटी नर्स कहलाती है।

नोबल नर्सिंग सेवा की शुरुआत करने वाली फ्लोरेंस नाइटईंगल के जन्मदिवस पर हर साल दुनिया भर में 12 मई को अंतरराष्ट्रीय नर्स दिवस मनाया जाता है

इस वक्त जब पूरी दुनिया कोरोना वायरस महामारी से जूझ रही है तो स्वास्थ्यकर्मी ही एक मजबूत दीवार बनकर खड़े हुए हैं। दिनरात बिना अपनी परवाह किए स्वास्थ्यकर्मी मरीजों का इलाज कर रहे हैं। डॉक्टर के सुझाव पर सभी बड़े अस्पताल में काम करने वाली नर्सें मरीजों की देखभाल कर रही हैं और उनके अंदर इस भावना को भी जगा रही हैं कि वह इस महामारी से जल्द ठीक हो जाएंगे।

अंतरराष्ट्रीय नर्स दिवस का महत्व

नर्सिंग को पूरी दुनिया के सबसे बड़े स्वास्थ्य पेशे के रूप में माना जाता है। नर्स को फिजिकली ही नहीं मानसिक और सामाजिक स्तर पर भी पहलुओं के माध्यम से रोगी की देखभाल करने के लिए अच्छी तरह से प्रशिक्षित, शिक्षित और अनुभवी होना चाहिए। जब पेशेवर चिकित्सक दूसरे रोगियों को देखने में व्यस्त होते है, तब रोगियों की चौबीस घंटे देखभाल करने के लिए नर्सिस की सुलभता और उपलब्धता होती हैं। नर्सिस से रोगियों के मनोबल को बढ़ाने वाली और उनकी बीमारी को नियंत्रित करने में मित्रवत, सहायक और स्नेहशील होने की उम्मीद की जाती है।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s